कुसुम योजना 2022, Kusum Yojana Registration, आवेदन फार्म

कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन करने की प्रकिया, Kusum Yojana 2022, जानिए इसकी पात्रता और मुख्य दस्तावेज क्या है ? योजना के लाभ क्या है?

कोरोना काल में लगे लॉक डाउन में जन जीवन पूरा अस्त- व्यस्त हो गया था. ऐसे में शहरों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र भी काफी प्रभावित हुए है. सरकार द्वारा अब सिर्फ यही कोशिश रहती है कि कैसे लोगो को नयी नयी योजनाएं लाकर लाभ पहुंचाया जाये. ऐसे में केंद्र सरकार के साथ ही राज्य सरकार अपने राज्यवासियों के लिए नई-नई योजनाएं लेकर आती है अभी हम बात करते है, केंद्र सरकार की नयी योजना के बारे में, इसमें सरकार द्वारा किसानो को लाभ पहुंचाने के लिए एक नई योजना की शुरुआत गयी, जिसका नाम है- ‘कुसुम योजना’.

इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों को खेती करने में फसलों में सिंचाई के दौरान उपयोग होने वाले सोलर पंप को प्रदान करने जा रही है, यह सौलर पंप सौर ऊर्जा से चलने वाले होंगे. इस योजना से क्या लाभ है ? क्या है यह योजना ? इसका उद्देश्य? हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से बताने जा रहे है. आपको यह पूरी जानकारी विस्तार से प्राप्त करने के लिए यह आर्टिकल पूरा पढ़ने की ज़रूरत है.

 Kusum Yojana

जानिए कुसुम योजना 2022 के बारे में-

देश में किसानों की आय दुगनी करने को लेकर सरकार लगातार प्रयास कर रही है. ऐसे में अब इस योजना को लाने से डीज़ल या पेट्रोल से चलाने वाले सिंचाई पंपो को अब सौर ऊर्जा से चलाया जायेगा. इससे किसानों का खर्चा भी कम होगा और आगे खेती करने में भी मदद मिलेगी. वही अब कुसुम योजना के पहले चरण में देशभर के 17.5 लाख पंप को सौलर पैनल की मदद से चलाया जायेगा. बता दे कि सरकार द्वारा राज्य के किसानों के खेतो में सौलर पंप लगवाने के लिए 50 हजार करोड़ रुपयों का बजट आवंटित किया गया है. इससे राज्य के 20 लाख किसानों को सौलर पंप देने में मदद कि जाएगी.

नई अपडेट-

इस योजना को लाने के पीछे सरकार कि जो मंशा है वह कृषि क्षेत्रों में छोटे बिजली संयंत्र लगाकर 30 गीगावॉट सौर ऊर्जा क्षमता हासिल करना है. अब तक इस योजना से 4 गीगावॉट ऊर्जा की क्षमता हासिल की गई है. जल्द ही 2.5 गीगावॉट को जोड़ दिया जायेगा. वही अगले साल तक इस योजना के अंतर्गत 40 गीगावॉट सौर ऊर्जा उत्पादन किया जायेगा. बता दे कि सरकार आने वाले समय में बिजली के क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहती है. इसके लिए इस योजना कि शुरुआत की ताकि सौर ऊर्जा को बढ़ावा मिले.

किसानों को इस योजना के अंतर्गत लाभ पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा दायरे को बढ़ा कर किसानो को नया अलॉटमेंट जारी किया जायेगा, इससे किसान अपना बिजली संयंत्र शुरू कर सकते है. बता दे की इस योजना में हुई नई अपडेट में अब से बंजर, परती, कृषि भूमि, चारागाह और दलदली भूमि पर भी सौर बिजली संयंत्र लगाए जाने की बात कही गयी है. इस योजना के अंतर्गत देश के बड़े किसानों के साथ ही अब छोटे किसान भी इस योजना का लाभ ले सकते है.

कुसुम योजना की लागत-

जैसा की आप सभी जानते है कि किसानों कि आय दुगनी करना ही सरकार का लक्ष्य है, ऐसे में इस योजना को शुरू करने में कितनी आय और कितनी लागत होगी अभी हम इस पर चर्चा करेंगे. बता दे कि इस योजना में देश के करीबन 17.5 लाख किसानों को कवर किया जायेगा. इस कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को सिर्फ पूरी लागत में से केवल 10% ही देना होगा. इसमें सरकार द्वारा किसानों को 30% सब्सिडी देगी और इसके साथ ही 30% ऋण के रूप में प्रदान कर दी जाएगी. इस योजना के अंतर्गत किसानों को 60000 से लेकर 100000 तक कि आय का लाभ मिल सकता है.

लाभ-

केंद्र सरकार द्वारा लायी गयी इस योजना से देश के किसानों को कई फायदे होंगे, उनकी आय में भी वृद्धि होगी और उन्हें खेती करने के साथ ही सिंचाई में भी सुविधा मिलेगी. ऐसे में उनका काम आगे बढ़ता रहेगा. सौलर ऊर्जा के माध्यम से किसान अपने खेतो में दिन में सिंचाई कर सकेंगे. ऐसे में केंद्र सरकार की कुसुम योजना काफी लाभदायक साबित होगी. वही कई किसानों के साथ समस्या यह होती है कि उनके खेतो में बिजली नहीं पहुंच पाती ऐसे में उन्हें सिंचाई करने में परेशानी आती है.

वही अब इस योजना के अंतर्गत बिजली कि आवयश्कता नहीं पड़ेगी सौलर ऊर्जा से यह काम आसान हो जायेगा. वही सरकार से यह मदद मिलेगी कि इस योजना के अंतर्गत लाभ पाने वाले लोगो कि कुल लागत में से 30 प्रतिशत धन राशि केंद्र सरकार, 30 प्रतिशत राज्य सरकार, 30 प्रतिशत नाबार्ड और बाकि बची 10 प्रतिशत राशि किसानों को जमा करनी है. इसके बाद किसानों के खेत में सौलर सिस्टम लगाए जायेंगे.

वही अगर राशि कि बात करे तो बता दे कि इसमें 3 से 7. 5 एचपी के पम्पसेट लगाए जा रहे है, इसके लिए किसानों को कितनी राशि जमा करनी है हम आपको बता देते है जोकि निम्न प्रकार से है, इस योजना के अंतर्गत 3 से 7. 5 एचपी के पम्पसेट लगाए जा रहे है 3 एचपी के लिए 20549 रुपए, 5 एचपी के 33749 रुपए और 7.5 एचपी के लिए 46687 रुपए किसान को जमा करवानी होगी, यह पैसा जमा करने के बाद ही वह अपने खेतो में पम्पसेट लगवा सकते है.

वही अब बात करते है कि जिन किसानों के पास नगद राशि जमा करने के लिए न हो और वह लोन लेना चाहते है तो इसके लिए वह नगर भुगतान भी नहीं कर सकते तो वह लोग सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन कर राज्य के किसान अन्य किसान या सरकार को ग्रिड पर देकर और पैसा कमा सकते है और इस अतिरिक्त आमदनी से लोन की किश्तें आसानी से चुका सकते है. केंद्र सरकार कि यह योजनाएं किसानों के लिए काफी लाभकारी साबित होती है.

उद्देश्य-

सरकार का इस योजना को लाने के पीछे का उद्देश्य है कि किसानों को खेती करने में किसी तरह कि परेशानी का सामना न करना पड़े. कई जगह जमीन सूखे होने के कारण वह खेती नहीं हो पाती और ऐसे में किसानों की आर्थिक स्थिति भी ख़राब रहती है. इन्ही सभी परेशानियों को देखते हुए सरकार ने कुसुम योजना की शुरुआत की है जिसमे सौर ऊर्जा प्राप्त की जाएगी.

ऐसे में किसानों को बंजर जमीन के साथ साथ अच्छी जमीन पर भी खेती करने में लाभ मिलेगा. वही किसान इस योजना के अंतर्गत अतिरिक्त आमदनी भी कर सकते है यानि की बिजली बनाकर ग्रिड पर देने है उन्हें इसका पैसा मिलेगा और वह अतिरिक्त कमाई कर सकते है. किसानों को 0.5 मेगा वाट से लेकर 2 मेगा वाट तक के सोलर पंप वितरित किए जाएंगे.

कुसुम योजना के कंपोनेंट्स

  • सौर पंप वितरण
  • सौर ऊर्जा कारखाने का निर्माण
  • ट्यूबवेल की स्थापना
  • वर्तमान पंपों का आधुनिकरण

NEW : आवेदन शुल्क

मेगा वाटआवेदन शुल्क
0.5 मेगावाट 2500+ GST
1 मेगावाट5000 + GST
1.5 मेगावाट7500+ GST
2 मेगावाट10000+ GST

वित्तीय संसाधनों का अनुमान

किसान द्वारा प्रोजेक्ट लगाने पर

सौर ऊर्जा संयंत्र की क्षमता1 मेगावाट
अनुमानित निवेश3.5 से 4.00 करोड़ रुपए प्रति मेगावाट
अनुमानित वार्षिक विद्युत उत्पादन17 लाख यूनिट
अनुमानित टैरिफ3.14 प्रति यूनिट
कुल अनुमानित वार्षिक आय5300000
अनुमानित वार्षिक खर्च500000
अनुमानित वार्षिक लाभ4800000
25 वर्ष की अवधि में कुल अनुमानित आय12 करोड़

किसान द्वारा भूमि लीज पर देने पर

1 मेगावाट हेतु भूमि की आवश्यकता2 हेक्टेयर
प्रति मेगावाट विद्युत उत्पादन17 लाख यूनिट
अनुमति लीज रेंट1.70 लाख से 3.40 लाख

HIGHLIGHTS : kusum yojana 2022

  • kusum yojana 2022 के तहत डीजल से चल रहे 17.5 लाख सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा से चलाया जाएगा.
  • कुसुम योजना 2022 का लाभ देश के सभी किसान उठा सकते है.
  • कुसुम योजना 2022 के अंतर्गत सौलर प्लांट लगाने से 24 घंटे तक बिजली उपलब्ध रहेगी.
  • इसके बाद से किसान अपने खेतो में कभी भी किसी भी समय सिंचाई कर सकते है.
  • किसान के खेतों को सिंचाई करने वाले पंप सौर ऊर्जा से चलेंगे.
  • इससे किसानों की खेती में बढ़ावा होगा. देश में खेती करने वाले क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा.
  • इस योजना के अंतर्गत 10 लाख ग्रिड से जुड़े कृषि पंपों का सोलराइजेशन किया जायेगा.

जानिए कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन के दस्तावेज़

दोस्तों अगर आप kusum yojana 2022 का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करने जा रहे है तो इससे पहले आप ज़रा इसमें लगने वाले मुख्य दस्तावेजों के बारे में जान ले. इन सभी मुख्य दस्तावेजो की जानकारी हम आपको नीचे अपने इस आर्टिकल में देने जा रहे है. जोकि निम्न प्रकार से है-

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट डिटेल्स/ बैंक की पासबुक
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • स्थाई निवासी पता और उसका सबूत
  • पासपोर्ट फोटो

जानिए कुसुम योजना 2022 में आवेदन करने कि प्रक्रिया-

दोस्तों अगर आप राजस्थान राज्य से है और kusum yojana योजना के अंतर्गत लाभ लेना चाहते है और इसमें आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में सम्पूर्ण जानकारी लेना चाहते है तो हम आपको नीचे इसमें आवेदन करने की प्रक्रिया बताने जा रहे है. नीचे दी गयी प्रक्रिया निम्न प्रकार से है .

  • सबसे पहले इसमें आवेदन करने के लिए आपको कुसुम योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है. जो कुछ इस तरह से है- http://rreclmis.energy.rajasthan.gov.in/kusum.aspx
kusum yojna
  • इसके बाद आपको होम पेज में ‘ Online Registration के ऑप्शन पर क्लिक करना है.
  • जैसे ही आप इसपर क्लिक करेंगे आपके सामने एक फॉर्म आएगा इसमें आपको पूछी गयी सारी जानकारी भरनी है, जैसे कि- नाम , पता, आधार नंबर, मोबाइल आदि.
kusum sarkari yojna
  • इस फॉर्म में दी गयी सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना है.
  • इस तरह रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपको विभाग द्वारा कुल लागत का 10% राशि का भुगतान करने के लिए सूचित किया जायेगा.
  • इसके बाद कुछ दिन में आपके खेत में सोलर पम्प लगा दिया जायेगा.

जानिए कुसुम योजना आवेदन की सूची देखने की प्रक्रिया-

  • सबसे पहले आपको सोलर योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है.
  • इसके बाद होम पेज में ‘कुसुम के लिए पंजीकृत आवेदनों की सूची’ के ऑप्शन पर क्लिक करना है.
kusum yojna online list
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे आपके सामने आवेदकों की सूची खुल जाएगी.
  • इस तरह आपकी आवेदन की सूची देखने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

kusum yojana 2022 FaQs

कुसुम योजना क्या है?

इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा पेट्रोल और डीज़ल से चलने वाले सिंचाई पम्पो का सोलराइजेशन किया जायेगा.

इस योजना का लाभ क्या है?

इससे किसानों को खेती करने में आसानी होगी और उन्हें आगे बढ़ने में मदद मिलेगी, इसके साथ ही उनकी आय में भी वृद्धि होगी.

इस योजना में लाभ पाने के लिए आवेदन कैसे करे?

इसमें आवेदन करने के लिए आपको इसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है, इसके बाद की पूरी प्रक्रिया हमने आपको अपने इस आर्टिकल में बताई है आप वहां से जाकर पढ़े.

इसमें किसानों को कितना पैसा जमा करना होगा?

किसानों को कुल लागत का केवल 10 % ही जमा करना है. बाकि की पूरी जानकारी के लिए आपको हमारा यह आर्टिकल पढ़ना होगा.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *