राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 2022 – आइये जानते है सरकार देगी जनरल जाति के किसानों को 5 लाख और SC/ST को 9 लाख़ रुपये

क्या आप जानते हैं की बिहार सरकार ने राष्ट्रीय कृषि विकास योजना और हरित क्रांति उप योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत राज्य सरकार किसानों को लगभग 9 लाख रूपये तक की अनुदान राशि गोदाम बनाने के लिए देगी. इस योजना के द्वारा किसानों का चुनाव पहले आओ और पहले पाओं योजना के आधार पर ही किया जाएगा.

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 2022

आपको बता दें की सरकार की इस  योजना के अंतर्गत किसानों को तमाम सुविधा जैसे- गोदाम बनाने के लिए 75 प्रतिशत का कुल लागत का अनुदान उपल्बध कराया जायेगा. सबसे जरुरी बात तो ये है कि इस योजना के तहत किसानों के हर गोदाम के लिए लगभग 15 लाख 53 हजार रुपये की अनुदान राशि देने का प्रावधान है.

वहीं बिहार सरकार ने जिले के कृषि अधिकारियों व अनुमंडल, प्रखंड और पंचायत के साथ हर गांव में प्रचार-प्रसार करने के निर्देश भी जारी किये है. किसानों को  राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में आवेदन करने के लिए ऑनलाइन के माध्यम से आवेदन किए जायेंगे. बता दें की इस योजना के तहत किसानों को बिहार सरकार जनरल जाति के किसानों को 50 प्रतिशत का अनुदान या फिर 5 लाख रूपये तक की अनुदान राशि किसानों के लिए निर्धारित कि गई है. 

वहीं अगर बात की जाये SC/ST जाति के किसानों की तो सरकार ने इन्हें 9 लाख रुपये अथवा कुल लागत का 75 प्रतिशत अनुदान राशि देने का प्रावधान दिया है. सरकार के द्वारा किसानों को अनुदान राशि देने के पहले पूरी जांच पड़ताल की जायेगी औऱ साथ ही अधिकारियों की जवाबदेही होगी. इस योजना के तहत प्रमंडलीय संयुक्त सचिव 10 प्रतिशत, अनुमंडल कृषि पदाधिकारी को 50 प्रतिशत व बीएओं को 100 प्रतिशत अनुरुप रुप से सत्यापन करना होगा. 

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 2022 - आइये जानते है सरकार देगी जनरल जाति के किसानों को 5 लाख और SC/ST को 9 लाख़ रुपये

इस योजना के तहत किसे होगा फायदा-

आपको बता दें की इस योजना का लाभ केवल बिहार राज्य के किसानों को ही मिलेगा औऱ साथ ही ऐसे किसानों को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा जिनके पास निजी जमीन होगी. इस योजना का लाभ पाने वाले किसानों के पास लगभग 154 वर्गमीटर जमीन होगा आवश्यक है. इस योजना के अंतर्गत सरकार  एफपीओ , कृषक समूह और महिला समूह को भी इस योजना का लाभ देगी.

वहीं इस योजना के अंतर्गत SC/ST जाति की महिला किसानों के लिए इस योजना का लाभ दिया जायेगा. अगर बात की जायें बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की तो सरकार के द्वारा इन इलाकों को विशेष रूप से पहले प्राथमिकता दी जाएगी और साथ ही इन क्षेत्रों के लिए कृषि विभाग के द्वारा एक अलग से नक्शा भी बनाकर दिया जाएगा. सबसे जरुरी बात तो ये है कि इस योजना लाभ पाने के लिए किसानों का पहले चुनाव कर पहले आओ और पहले पाओं योजना के आधार पर ही किया जाएगा. 

किसान कैसे करें इस योजना में रजिस्ट्रेशन, आइये जानते हैं-

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 2022 में रजिस्ट्रेशन करने के लिए किसानों को पहले ही ऑनलाइन के माध्यम से आवेदन करना होगा. जिससे किसान आने वाले समय में इस  योजना का लाभ आसानी से उठा सकें.

Official Websitehttps://rkvy.nic.in/

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *