UP गेहूं खरीद योजना 2022 ऑनलाइन किसान पंजीकरण @eproc.up.gov.in खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश ई-क्रय प्रणाली

उत्तर प्रदेश किसान पंजीकरण प्रक्रिया, ई-क्रय प्रणाली पोर्टल , गेहू खरीद किसान ऑनलाइन आवेदन, how to apply online

एक तरफ जहां किसान सरकार द्वारा लाये गए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे है, वही दूसरी और UP सरकार ने राज्य के किसानों को आसान सुविधा पहुंचाते हुए डिजिटली गेहूं बेचने की योजना तैयार कर ली है। बता दे कि योगी सरकार आये दिन कोई न कोई योजनाएं लाती ही रहती है जिससे प्रदेशवासियों को लाभ मिलता रहे और वह आगे बढ़ते रहे। वहीं प्रधान मंत्री की डिजिटल भारत बनाने की योजना के तहत भी योगी सरकार ने राज्य को डिजिटली सातवें आसमां पर पहुंचाने की ठान ली है.।फ़िलहाल विस्तार से बात करते है नयी योजना के बारे में जिसका नाम है: UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान ऑनलाइन पंजीकरण 2022

उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद योजना 2022

उत्तरप्रदेश में विराजमान योगी सरकार ने किसानों से उनकी गेहूं की फसल खरीदने के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल को लॉन्च किया है, अगर हम इसके नाम की बात करे तो इसका नाम है खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश ई-क्रय प्रणाली / ई-उपार्जन पोर्टल। इस योजना के तहत राज्य के किसान अपनी रबी फसल यानि की गेहूं की फसल को सरकारी एजेंसियो को बेच सकते है।

इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी फसल आसानी से सरकार को बेच सकते है. इस योजना के तहत किसान बिना किसी झंझट के फसल बेचकर बाजार में होने वाली व्यापारियों द्वारा की जाने वाली कालाबाजारी पर भी लगाम लगाने का काम कर सकते है. वहीं इससे प्रदेश की आर्थिक स्थिति में भी बदलाव नज़र आएंगे. तो चलिए अब बात करते है की इस योजना की कब से होने जा रही है शुरुआत और किसान इस पर कैसे आवेदन कर सकते है.

जानिए कब से होगी शुरुआत और कैसे कर सकते है आवेदन ?

बता दें की इस UP गेहूं खरीद योजना 2022 की शुरुआत योगी सरकार 1 अप्रैल 2021 से शुरू करने जा रही है। इस योजना के तहत किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए सबसे पहले ई– क्रय प्रणाली की ऑफिसियल वेबसाइट ‘eproc.up.gov.in’ पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। जिसके बाद बिक्री शुरू होने से पहले किसानों को अपना टोकन नंबर पाने के लिए एक बार फिर अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अपवर्जन पोर्टल पर करवाना होगा, जिससे उन्हें एक टोकन नंबर प्राप्त होगा.

उसके अनुसार किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए अपनी बारी आने का इंतज़ार करना होगा फिर जब बारी आ जाये तो मंडी में अपनी फसल ले जाकर किसान इसे बेच सकते है वो भी बिना किसी परेशानी के। वहीं राज्य के किसान अपनी फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी एजेंसियों को बेच सकते है। फसल बिक जाने के बाद पैसे सीधे किसानों के बैंक खातों में भेज दिए जायेंगे.

New Update :

  • रजिस्ट्रेशन में गेहूं के खेत का विवरण देना जरूरी है
  • खेत के विवरण में खतौनी/खसरा संख्या, गेहूं का रकबा भर ने के साथ ही आधार कार्ड, बैंक पास बुक व राजस्व अभिलेखों का सही विवरण दर्ज करना होगा.
  • रजिस्ट्रेशन होने के बाद रजिस्ट्रेशन नंबर और उसका प्रिंट जरूर ले.
  • जब तक आवेदन लॉक नहीं किया जाता है, रजिस्ट्रेशन स्वीकार नहीं किया जायेगा.
  • मोबाइल नंबर पर रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी भेजी जाएगी.
  • 100 क्विंटल से अधिक गेहूं की बिक्री के लिए एसडीएम से सत्यापन कराया जायेगा.
  • गेहूं बेचने के बाद केन्द्र प्रभारी से पावती पत्र अवश्य प्राप्त कर ले.

जानिए कितने किसानों से की गई गेहूं खरीद?

इस योजना के माध्यम से राज्य में गेहूं खरीद की प्रक्रिया को शुरू कर दिया गया है. कोरोना काल में इसे शुरू करना मुश्किल था लेकिन किसानो को किसी तरह की परेशानी से न झूझना पड़े इसलिए सरकार द्वारा ज़रूरी बातें और सावधानी बरतते हुए इसके तहत गेहूं खरीदी शुरू कर दी गयी है. अब तक 20.50 लाख मैट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है. इसमें न्यूनतम समर्थन मूल्य पर लगभग 3,99,935 किसानों से की जा चुकी है.

इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा खरीद करने की जिम्मेदारी 11 एजेंसियों को सौंपी गई थी, जिसमे से 7 एजेंसियों ने क्रय केंद्र संचालित किए है. राज्य कृषि उत्पादन मंडी परिषद द्वारा 48 जिलों में 110 गेहूं खरीद केंद्र स्थापित किए जा चुके हैं, इन केंद्रों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य 1975 रुपए प्रति क्विंटल की दर निर्धारित की गई है, जिससे 46982 मैट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है. इस योजना के अंतर्गत 8523 किसानों को 92.78 करोड़ रुपए का भुगतान भी गेहूं खरीद पर किया जा चुका है.

तो कुछ इस तरह है ‘UP गेहूं खरीद ऑनलाइन’ की विशेषताएं-

  • केंद्र- योगी सरकार ने इस साल यानि की 2022 में किसानों की फसल खरीदने के लिए राज्य में 5500 खरीद केंद्र बनाए हैं।
  • टारगेट– UP सरकार ने इस बार 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद का टारगेट रखा है. इससे प्रदेश के सारे किसानों की फसल आसानी से खरीद ली जा सकती है।
  • मूल्य- वही गेहूं की फसल खरीदी के लिए 1925 रुपये / क्विंटल के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर (MSP) रखी गयी है. जो की इस बार समर्थन मूल्य में 50 रुपये की बढ़ोत्तरी की गई है. इससे फसल बेचने और खरीदने पर लाभ मिलेगा.
  • टोकन प्रक्रिया-इस योजना में किसान अपनी फसल टोकन नंबर के हिसाब से मंडी में बेचने जायेंगे. जिससे की भीड़भाड़ होने से बचेगी और किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए ज्यादा इंतज़ार नहीं करना होगा इसमें टोकन नंबर मिलने के बाद उसी के हिसाब से दिए गए समय पर किसान अपनी फसल लेकर मंडी में जाकर बेच सकते है.

ज़रा ग़ौर फ़रमाइये UP गेहूं खरीद योजना पंजीकरण करने के लिए जरुरी इन दस्तावेज़ की और-

इसमें हम बात करेंगे की किसानों को इस योजना का लाभ लेने और UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए किन-किन डॉक्यूमेंट की होगी ज़रूरत:-

  • ज़मीन के मुख्य दस्तावेज़, जिसमें खतौनी, खसरा संख्या और जमीन व गेहूं का रकबा होना ज़रूरी है
  • बैंक की जानकारी/ अकाउंट डिटेल्स
  • आधार कार्ड
  • आवेदक का पासपोर्ट फोटो
  • अन्य ज़रूरी जानकारी

और आखिर में यह रही उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद योजना की कुछ ‘झलकियां’

योजना की शुरुआतउत्तरप्रदेश
योजना का नामUP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022
शुरुआत 1 अप्रैल 2021
ई– क्रय प्रणाली वेबसाइट eproc.up.gov.in
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन आवेदन

कुछ ऐसे होगी UP गेहूं खरीद योजना 2022 आवेदन की प्रक्रिया-

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022 योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक अपना रजिस्ट्रेशन निचे दी गयी स्टेप्स को फॉलो कर आसानी से कर सकते है, तो चलिए बढ़ते है स्टेप्स की ओर साथ ही जानते है की कैसे कर सकते है ऑनलाइन आवेदन।

  1. सबसे पहली स्टेप में आपको जाना होगा इस वेबसाइट पर ‘https://eproc.up.gov.in/Uparjan/Home_Reg.aspx’ यह उप खाद्य एवं रसद विभाग की ई – क्रय प्रणाली की ऑफिसियल वेबसाइट है. इसपर CLICK करने के बाद आपको ‘HOMEPAGE’ दिखाई देगा। जो की कुछ इस तरह दिखाई देगा,वही यहां पर आवेदक को “गेहू खरीद हेतु किसान पंजीकरण” के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

    UP Gehu Kharid Yojana 2021 How to Apply Online Step 1

  2. इसके बाद कुछ इस तरह का पेज खुलेगा, जिसपर आपको कई सारी जानकारी भरनी होगी और यह भरने के साथ ही आगे बढ़ते जाये. सबसे पहले पंजीकरण प्रपत्र पर क्लिक कर एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरे।

    UP Gehu Kharid Yojana 2021 How to Apply Online Step 2

  3. इस फॉर्म को भरने के बाद आखिरी में “आगे बढ़े” वाले ऑप्शन पर क्लिक करे. जैसे ही आप इस पर क्लिक करेंगे तुरंत एक फॉर्म खुल जायेगा जो की किसान रबी फसल के पंजीकरण के लिए फॉर्म है. जिसमें आपको पूछी गयी जानकारी को भरना है। जैसे कि- नाम, पता, मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर आदि।

    UP Gehu Kharid Yojana 2021 How to Apply Online Step 3

  4. इस पुरे फॉर्म को भरने के बाद इसे ‘पंजीकरण करें’ पर क्लिक कर इसे सबमिट कर दें। फिर इसका प्रिंट निकल कर अपने पास रख ले।

चलिए जानते है टोकन बनाने की प्रक्रिया-

आवेदन करने के बाद किसान को कब अपनी फसल बेचनी है और किस दिन बेचनी है इसको लेकर टोकन बनाना होगा जिससे किसानों को फसल बेचने में कोई झंझट और परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। तो चलिए जानते है इसे बनाने के लिए कुछ आसान स्टेप्स:-

  • सबसे पहले आपको आवेदन के बाद जाकर ‘लॉक के उपरांत टोकन बनाये’ वाले बटन को क्लिक करके उसमे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा। जैसे ही आप इसे क्लिक करेंगे आपको पेज कुछ इस तरह दिखाई देगा।
  • पेज पर दी गयी जानकारी को भरने के बाद आप ‘आगे बढ़े’ वाले बटन पर क्लिक करदे जिसमें आपको आपके मंडी जाने की तारीख से लेकर हर जानकारी दें दी जाएगी। तो दोस्तों यह थी कुछ आसान स्टेप्स।

जानिए पंजीकरण प्रारूप की प्रक्रिया

  • राज्य के इक्छुक किसान ई-उपार्जन पर ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने से पहले आवेदन पत्र का प्रारूप भी देख सकते है.
  • इसके लिए पंजीकरण प्रारूप में ऑप्शन पर क्लिक करना है.
  • इस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने पंजीकरण प्रारूप पीडीएफ फॉर्मेट में खुल कर आ जायेगा.
  • इसे आप ध्यानपूर्वक पढ़ सकते है.

जानिए UP किसान पंजीकरण संसोधन / ड्राफ्ट

  1. गेहूं खरीद के लिए पंजीकरण फॉर्म भरते समय किसी भी तरह की गलत जानकारी भर गई है तो वे इसे सुधर सकते है. इसके लिए सबसे पहले इस पर यानि की पंजीकरण संशोधन पर क्लिक करे.
up gehu kharid online panjikaran
  1. इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद एक फॉर्म खुलकर आ जायेगा, इसमें सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक भरे.
  2. फिर आगे बढ़े पर क्लिक करे और अपना रजिस्ट्रेशन सुरक्षित करके रख सकते हैं.

किसान पंजीकरण फॉर्म प्रिंट

  • आवेदक किसान अपने आवेदन पत्र का ऑनलाइन प्रिंट आउट निकल सकते है जिसके लिए उन्हें सबसे पहले पंजीकरण प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करना है.
  • इसके बाद अब एक अगला पेज खुल जायेगा.
up gehu kharid
  • दोस्तों अब इस पेज पर पूछी गयी सभी जानकारी भरनी है जैसे की अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड.
  • यह दर्ज करने के बाद अब आगे बढ़े के बटन पर क्लिक कर दे.
  • इस पर क्लिक करने के बाद अब आपका प्रपत्र खुल जाएगा जिसे आप प्रिंट आउट ले सकते है या उसे सेव कर सकते हैं.

आपको अगर यह आर्टिकल ज़रूरी लगा हो और आपको उपयुक्त जानकारी समझ आ गयी हो तो कमेंट सेक्शन में हमें ज़रूर बताये।

जानिए सीएमआर का मूवमेंट चालान जनरेट करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले खाद एवं रसद विभाग सार्वजनिक वितरण प्रणाली उत्तर प्रदेश की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाये.
  • अब होम पेज में गेहूं क्रय प्रबंधन प्रणाली 2022-23 के ऑप्शन पर क्लिक कर दे.
  • इसके बाद अब शाखा में विपरण शाखा का चयन करना है.
  • अब आपको यूजरटाइप में क्रय केंद्र का चयन करना है.
  • इसके बाद यूजर आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज कर दे.
  • यह दर्ज करने के बाद अब सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर दे.
  • अब परिवहन के ऑप्शन पर क्लिक कर दे.
  • अब आपको मूवमेंट चालान जारी करें सीएमआर के ऑप्शन पर क्लिक करना है.
  • इस पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा इसमें पूछी गयी सभी जानकारी को भरना है, जैसे कि- प्रेषक का नाम, मिल का नाम, प्राप्तकर्ता, परिवहन करता का नाम आदि.
  • फिर अब सुरक्षित करें के ऑप्शन पर क्लिक कर दे.
  • इस पर क्लिक करने के बाद अब सीएमआर का मूवमेंट चालान जनरेट हो जाएगा.
  • इस तरह से सीएमआर का मूवमेंट चालान जनरेट करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

जानिए ई प्रोक्योरमेंट मॉड्यूल पर डिजिटल सिगनेचर सर्टिफिकेट सेव करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले खाद एवं रसद विभाग सार्वजनिक वितरण प्रणाली उत्तर प्रदेश की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाये.
  • अब होम पेज में गेहूं क्रय प्रबंधन प्रणाली 2022-23 के ऑप्शन पर क्लिक कर दे.
  • इसके बाद अब शाखा में विपरण शाखा का चयन करना है.
  • अब आपको यूजरटाइप में डिपो यूजर का चयन करना है.
  • इसके बाद आपको अपने जनपद का चयन करना है.
  • अब आपको यूज़र आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना है.
  • इसके बाद डिजिटल सिग्नेचर संरक्षित करेंगे ऑप्शन पर क्लिक करना है.
  • इस पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलकर आएगा, इस पेज पर आपको ऑफिसर रोल, मोबाइल नंबर, ऑफिसर नेम, डीएससी वैलिडिटी फॉर्म, ऑफिसर नेम इन डीएससी, डीएससी वैलिडिटी टू दर्ज करना है.
  • इसके पश्चात आपको सर्टिफिकेट सिलेक्ट करना होगा.
  • अब आपको हस्ताक्षरित करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • इस तरह से आपकी ई प्रोक्योरमेंट मॉड्यूल पर डिजिटल सिगनेचर सर्टिफिकेट सेव करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

जानिए मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले खाद एवं रसद विभाग सार्वजनिक वितरण प्रणाली उत्तर प्रदेश की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाये.
  • अब होम पेज में खरीद हेतु किसान पंजीकरण के ऑप्शन पर क्लिक कर दे.
  • अब आपको मोबाइल ऐप डाउनलोड करें (केवल एंड्रॉयड फोन) के ऑप्शन पर क्लिक करना है.
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे मोबाइल ऐप आपके डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगा.
  • इस तरह से आपकी मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया पूरी जाएगी.
UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान रजिस्ट्रेशनआवेदन फॉर्म भरें
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://eproc.up.gov.in/

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *